August 2, 2021

HULCHUL INDIA 24X7

बेबाक खबर तेज असर

जलालाबाद ब्लॉक संसाधन केंद्र पर छह दिवसीय उन्मुखीकरण प्रशिक्षण का शुभारंभ खंड शिक्षा अधिकारी संजय डबराल ने मां सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलन से किया।

जलालाबाद/शामली

बेसिक शिक्षा परिषद अंतर्गत संचालित स्कूलों में कक्षा 1 में एनसीआरटी पाठ्य पुस्तकों से नए सत्र में शिक्षण होगा। इसको लेकर बेसिक शिक्षा परिषद के सरकारी स्कूलों के शिक्षक शिक्षिकाओं को छह दिवसीय प्रशिक्षण दिया जा रहा। प्रशिक्षण का मकसद नए पाठ्यक्रम को प्रभावी ढंग से शिक्षण करना है।

जलालाबाद कस्बे के ब्लॉक संसाधन केंद्र पर छह दिवसीय उन्मुखीकरण प्रशिक्षण का शुभारंभ खंड शिक्षा अधिकारी संजय डबराल ने मां सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलन से किया। प्रशिक्षण में बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में कार्यरत 60 शिक्षक शिक्षिकाएं भाग ले रहे। इस बार बेसिक शिक्षा परिषद अंतर्गत संचालित स्कूलों में कक्षा एक के पाठ्यक्रम में बदलाव किया गया है। यह बदलाव की बयार नए सत्र से आरंभ होगी। पहले पाठ्य पुस्तकों के साथ अभ्यास पुस्तिकाएं भी कक्षा एक के पाठ्यक्रम में रही है। हिंदी की पाठ्यपुस्तक कलरव के स्थान पर नए सत्र में एनसीईआरटी की पाठ्यपुस्तक रिमझिम होगी। पहले हिंदी की पाठ्यपुस्तक कल रहों में अंग्रेजी को जोड़ा गया था। इस बार एनसीईआरटी की पाठ्यपुस्तक अलग से मेरीगोल्ड होगी। मेरीगोल्ड में कार्यपुस्तिका भी साथ दी गई है। गणित में गिनतारा की जगह मैजिक मैथ से बच्चे नए सत्र में पढ़ते नजर आएंगे। नई शिक्षा नीति के अंतर्गत बेसिक शिक्षा परिषद में कक्षा एक के पाठ्यक्रम में भारी बदलाव किया गया है। हिंदी अंग्रेजी गणित की तीनों पुस्तकें एनसीआरटी की होने से पाठ्यक्रम पहले के बजाय कठिन होगा। इस पाठ्यक्रम को प्रभावी बनाने के लिए बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में कार्यरत शिक्षक शिक्षिकाओं को छह दिवसीय उन्मुखीकरण प्रशिक्षण दिया जा रहा। प्रशिक्षक अरुण सैनी ने बताया की इस प्रशिक्षण का मकसद नए पाठ्यक्रम को प्रभावी ढंग से बच्चों को समझाना है। नए पाठ्यक्रम को लेकर शिक्षक -शिक्षिकाओं में उत्सुकता है।