September 16, 2021

HULCHUL INDIA 24X7

बेबाक खबर तेज असर

प्रियदर्शनी को पछतावा,

कृष्णानगर के नहर चौराहे पर उबर कैब चालक सआदत अली सिद्दीकी की पिटाई व लूट के मुकदमे में आरोपी प्रियदर्शनी से रविवार को पुलिस ने करीब दो घंटे पूछताछ की। इस दौरान घटना को लेकर उससे कई सवाल किए गए। पूछताछ में प्रियदर्शनी ने न सिर्फ अपनी गलती स्वीकारी बल्कि चालक की पिटाई करने पर पछतावा होने की बात भी कही मालूम हो कि वजीरगंज के जगत नारायण रोड निवासी उबर कैब चालक सआदत अली सिद्दीकी को शुक्रवार रात कृष्णानगर में अवध हॉस्पिटल चौराहे पर केसरी खेड़ा कॉलोनी में रहने वाली प्रियदर्शनी नारायण ने जमकर पीटा था। पीड़ित व उसके दो भाइयों को ही रात भर हवालात में बंद रखने, शांतिभंग की धारा में चालान करने व कैब छोड़ने के एवज में दस हजार रुपये वसूलने पर कृष्णानगर पुलिस की खूब फजीहत हुई थी।मामले में पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने कृष्णानगर इंस्पेक्टर महेश दुबे, सेकेंड अफसर/उपनिरीक्षक मोहम्मद मन्नान और भोलाखेड़ा चौकी प्रभारी हरेंद्र सिंह को लाइन हाजिर कर दिया था। वहीं, डीसीपी (मध्य) ख्याति गर्ग ने निष्पक्ष जांच के लिए कृष्णानगर कोतवाली से विवेचना बंथरा थाने ट्रांसफर कर दी थी।

विवेचना कर रहे बंथरा इंस्पेक्टर जेपी सिंह ने रविवार को प्रियदर्शनी नारायण को पूछताछ के लिए कृष्णानगर कोतवाली बुलाया। शाम को अपने माता-पिता संग पहुंची प्रियदर्शनी से इंस्पेक्टर जेपी सिंह व कृष्णानगर इंस्पेक्टर आलोक कुमार राय ने महिला पुलिस की मौजूदगी में पूछताछ की। विवेचक ने प्रियदर्शनी से पूछा कि इतनी रात में कहां जा रही थीं? आखिर क्या वजह थी कि चालक को कैब से खींचकर इस कदर पिटाई की? चालक का मोबाइल फोन तोड़ने व नकदी लूटने को लेकर भी विवेचक ने प्रियदर्शनी से सवाल पूछे। प्रियदर्शनी ने बीमार होने की बात कही तो पूछा गया कि जब बीमार हो तो अकेले क्यों घर से निकलती हो?सूत्रों के मुताबिक प्रियदर्शनी ने रेड सिग्नल में वाहनों के गुजरने की बात कही। बताया कि वह कैब से कुचलने से बाल-बाल बची थी। इसे लेकर चालक ने अभद्रता की तो उसने उसे कैब से खींचकर पिटाई की। सूत्रों के मुताबिक प्रियदर्शनी ने घटना को लेकर अपनी गलती स्वीकार करते हुए चालक की पिटाई पर पछतावा होने की बात कही है। कहा कि वो बीमार है। उसे माफ कर दिया जाए।