April 12, 2021

HULCHUL INDIA 24X7

बेबाक खबर तेज असर

तीन दिन से लापता व्यापारी का गोली लगा शव बरामद परीजनो में मचा कोहराम

*तीन दिन से लापता व्यापारी का गोली लगा शव बरामद परीजनो में मचा कोहराम* *1फरवरी झिंझाना जनपद शामली* शुक्रवार से लापता कारोबारी का शव आज तीसरे दिन पुलिस ने हिरासत में आए एक हत्यारोपी की निशान देही पर ईख के खेत से बरामद कर लिया है। क्षेत्रीय विधायक नाहिद हसन ने परिजनों को दिखाएं बगैर शव को पोस्टमार्टम हाउस भेजे जाने पर कड़ी आपत्ति जताई एवं बिना किसी दबाव के निष्पक्ष कार्यवाही करने का निर्देश दिया। परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने गुमशुदगी को अपहरण कर हत्या में तरमीम करते हुए कार्यवाही की है। कारोबारी मुस्तफा को उसके करीबी व भाजपा नेता के भाई विजयपाल बंसल द्वारा ही गोली मारकर मौत के घाट उतार दिए जाने की चर्चा से पारिवारिक रिश्ते एवं हिंदू मुस्लिम एकता कलंकित हो गई हैं। हत्या के कारणों का अभी पता नहीं चल रहा है। पुलिस क्षेत्राधिकारी जितेंद्र कुमार एवं थाना प्रभारी निरीक्षक श्यामवीर सिंह ने कारोबारी की हत्या किए जाने की पुष्टि करते हुए बताया कि सोमवार को दोपहर बाद ग्राम बीबीपुर के जंगल में ईख के खेत से आज एक शव बरामद हुआ है। परिजनों सहित लोगों ने शव गुमशुदा कारोबारी 66 वर्षीय मुस्तफा पुत्र जमीर अहमद निवासी कस्बा झिंझाना का बताया है। गौरतलब हो कि मुस्तफा लगभग 20 – 25 वर्षों पहले कस्बा झिंझाना में बूरा, रेवड़ी एवं पताशे आदि बनाने हेतु मुजफ्फरनगर से यहां कारीगर के रूप में आया था। जो यहां अपने परिवार सहित निजी तौर पर पूरा पता से एवं रेवड़ी आदि की फैक्ट्री का संचालन कर सप्लाई कर रहा था। जिसमें उसका बड़ा बेटा मार्केट एवं वह माल तैयार कराने के रूप में कार्य कर रहा था। मुस्तफा बेहद शरीफ एवं मिलनसार व्यक्ति था। किराए पर संचालित फैक्ट्री के मालिक विजय पाल बंसल से उसका पारिवारिक रिश्ता एवं हिंदू मुस्लिम एकता की मिसाल भी था। कारोबारी मुस्तफा शुक्रवार को घर पर अकेला ही था। उसके बड़े बेटे गुड्डू ने बताया कि शुक्रवार को विजय पाल ने ₹4 लाख बतौर उधार दिए जाने को उसे दुकान पर बुलाया था। जिसके बाद उसका कहीं कोई पता नहीं चला था। जिसकी गुमशुदगी की सूचना रात में ही पुलिस को दे दी गई थी। पुलिस ने गुमशुदगी की सूचना पर जांच करते हुए आज सीसीटीवी कैमरे की मदद से एक युवक को हिरासत में लिया था। जिसने सहज ही घटना का पर्दाफाश करते हुए कारोबारी का शव बरामद करा दिया। उधर विजयपाल बंसल के परिजनों द्वारा कल विजयपाल के भी लापता होने की अफवाह फैलाई गई थी। थाना प्रभारी निरीक्षक श्यामवीर सिंह ने सख्ती के साथ जांच आगे बढ़ाते हुए घटना का अनावरण कर हत्याकांड का खुलासा कर दिया है। क्षेत्रीय पुलिस अधिकारी जितेंद्र सिंह ने टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर कारोबारी के शव को बरामद कर शव विच्छेदन गृह भेज दिया। सूचना पर क्षेत्रीय विधायक नाहिद हसन भी शाम को थाना झिंझाना पर पहुंचे और परिजनों को शव दिखाए बगैर पोस्टमार्टम के लिए भेजे जाने पर कड़ी आपत्ति जताई। बाद में पुलिस क्षेत्राधिकारी द्वारा समझाने पर वह संतुष्ट हो गए एवं मृतक के साथ न्याय पूर्ण कार्यवाही किए जाने के लिए पुलिस को निर्देश दिया। देर शाम तक परिजनों ने हत्या की तहरीर दी। पुलिस क्षेत्राधिकारी ने मृतक पक्ष के साथ सहानुभूति पूर्वक बिना किसी दबाव के निष्पक्ष तौर पर कड़ी कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया है। कारोबारी की हत्या से परिजन एवं कस्बा वासी सकते में है *झिंझाना से विकास कुमार / प्रेमचंद वर्मा की रिपोट*1फरवरी झिंझाना जनपद शामली शुक्रवार से लापता कारोबारी का शव आज तीसरे दिन पुलिस ने हिरासत में आए एक हत्यारोपी की निशान देही पर ईख के खेत से बरामद कर लिया है। क्षेत्रीय विधायक नाहिद हसन ने परिजनों को दिखाएं बगैर शव को पोस्टमार्टम हाउस भेजे जाने पर कड़ी आपत्ति जताई एवं बिना किसी दबाव के निष्पक्ष कार्यवाही करने का निर्देश दिया। परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने गुमशुदगी को अपहरण कर हत्या में तरमीम करते हुए कार्यवाही की है। कारोबारी मुस्तफा को उसके करीबी व भाजपा नेता के भाई विजयपाल बंसल द्वारा ही गोली मारकर मौत के घाट उतार दिए जाने की चर्चा से पारिवारिक रिश्ते एवं हिंदू मुस्लिम एकता कलंकित हो गई हैं। हत्या के कारणों का अभी पता नहीं चल रहा है।
पुलिस क्षेत्राधिकारी जितेंद्र कुमार एवं थाना प्रभारी निरीक्षक श्यामवीर सिंह ने कारोबारी की हत्या किए जाने की पुष्टि करते हुए बताया कि सोमवार को दोपहर बाद ग्राम बीबीपुर के जंगल में ईख के खेत से आज एक शव बरामद हुआ है। परिजनों सहित लोगों ने शव गुमशुदा कारोबारी 66 वर्षीय मुस्तफा पुत्र जमीर अहमद निवासी कस्बा झिंझाना का बताया है।
गौरतलब हो कि मुस्तफा लगभग 20 – 25 वर्षों पहले कस्बा झिंझाना में बूरा, रेवड़ी एवं पताशे आदि बनाने हेतु मुजफ्फरनगर से यहां कारीगर के रूप में आया था। जो यहां अपने परिवार सहित निजी तौर पर पूरा पता से एवं रेवड़ी आदि की फैक्ट्री का संचालन कर सप्लाई कर रहा था। जिसमें उसका बड़ा बेटा मार्केट एवं वह माल तैयार कराने के रूप में कार्य कर रहा था। मुस्तफा बेहद शरीफ एवं मिलनसार व्यक्ति था। किराए पर संचालित फैक्ट्री के मालिक विजय पाल बंसल से उसका पारिवारिक रिश्ता एवं हिंदू मुस्लिम एकता की मिसाल भी था। कारोबारी मुस्तफा शुक्रवार को घर पर अकेला ही था। उसके बड़े बेटे गुड्डू ने बताया कि शुक्रवार को विजय पाल ने ₹4 लाख बतौर उधार दिए जाने को उसे दुकान पर बुलाया था। जिसके बाद उसका कहीं कोई पता नहीं चला था। जिसकी गुमशुदगी की सूचना रात में ही पुलिस को दे दी गई थी। पुलिस ने गुमशुदगी की सूचना पर जांच करते हुए आज सीसीटीवी कैमरे की मदद से एक युवक को हिरासत में लिया था। जिसने सहज ही घटना का पर्दाफाश करते हुए कारोबारी का शव बरामद करा दिया। उधर विजयपाल बंसल के परिजनों द्वारा कल विजयपाल के भी लापता होने की अफवाह फैलाई गई थी। थाना प्रभारी निरीक्षक श्यामवीर सिंह ने सख्ती के साथ जांच आगे बढ़ाते हुए घटना का अनावरण कर हत्याकांड का खुलासा कर दिया है। क्षेत्रीय पुलिस अधिकारी जितेंद्र सिंह ने टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर कारोबारी के शव को बरामद कर शव विच्छेदन गृह भेज दिया। सूचना पर क्षेत्रीय विधायक नाहिद हसन भी शाम को थाना झिंझाना पर पहुंचे और परिजनों को शव दिखाए बगैर पोस्टमार्टम के लिए भेजे जाने पर कड़ी आपत्ति जताई। बाद में पुलिस क्षेत्राधिकारी द्वारा समझाने पर वह संतुष्ट हो गए एवं मृतक के साथ न्याय पूर्ण कार्यवाही किए जाने के लिए पुलिस को निर्देश दिया। देर शाम तक परिजनों ने हत्या की तहरीर दी। पुलिस क्षेत्राधिकारी ने मृतक पक्ष के साथ सहानुभूति पूर्वक बिना किसी दबाव के निष्पक्ष तौर पर कड़ी कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया है। कारोबारी की हत्या से परिजन एवं कस्बा वासी सकते में है

झिंझाना से विकास कुमार / प्रेमचंद वर्मा की रिपोट

You may have missed

error: Content is protected !!