October 19, 2021

HULCHUL INDIA 24X7

बेबाक खबर तेज असर

जलालाबाद व ग्रामीण क्षेत्रों में भारत सरकार के आदेश द्वारा कक्षा एक से स्कूल खोलने पर छात्रों व अभिभावकों में उत्साह देखने को मिला

जलालाबाद/शामली

11 माह से अधिक समय के बाद प्राइमरी शिक्षा के स्कूल खोले गए। सुबह में स्कूलों में पहुंचने पर बच्चों में उत्साह रहा । कक्षा में मास्क व शारीरिक दूरी से शिक्षकों ने बच्चों को अध्ययन कराया। स्कूलों में फल ,टॉफी, चॉकलेट बांटी गई।

वैश्विक कोरोना महामारी में 13 मार्च 2020 से देश में सभी स्कूलों को केंद्र सरकार ने बंद करने के आदेश दिए थे। केंद्र सरकार के आदेश पर जारी गाइडलाइन पर सबसे पहले माध्यमिक शिक्षा के स्कूलों का संचालन किया गया। 10 फरवरी से जूनियर वर्ग के स्कूल खोले गए। सोमवार में प्राइमरी वर्ग के स्कूलों को खोलने के आदेश पर 11 माह से अधिक समय के बाद बच्चे पहले दिन शिक्षा लेने के लिए स्कूलों में पहुंचे। पहले दिन बच्चों के स्कूल में आने पर बच्चों के साथ शिक्षक भी उत्साहित रहे । कस्बे के न्यू मॉडर्न पब्लिक स्कूल, प्राइमरी स्कूल नंबर 1,प्राइमरी स्कूल नंबर 2,जयंती प्रसाद जैन प्राथमिक विद्यालय, सेंट स्टीफन इंटरनेशनल स्कूल, एल्पाइन इंटरनेशनल स्कूल , उमरपुर में प्राइमरी स्कूल ,दभेड़ी में प्राइमरी स्कूल,पहले दिन बच्चों ने सरकार के द्वारा जारी गाइडलाइन का पूर्ण तरीके से पालन किया। कक्षा में बच्चों ने मास्क लगाकर शिक्षा ग्रहण की। अभिभावकों में इतने अधिक समय के बाद स्कूलों में बच्चों के जाने पर खुशी नजर आई। अभिभावक रतन सिंह नायक, मुकेश कुमार , जोगिंदर कुमार, राहुल, राधेश्याम ,सलीम ,यासीन , अन्य ने प्राइमरी कक्षाओं के स्कूल खुलने पर खुशी व्यक्त की। अभिभावकों ने सरकार के इस कदम की शिक्षा के प्रति प्रशंसा की है ।