May 21, 2024

HULCHUL INDIA 24X7

बेबाक खबर तेज असर

कृषि कानूनों के विरोध में संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर किसानों ने किया धरना प्रदर्शन एवं चक्का जाम

*संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर भारतीय किसान यूनियन के नेतृत्व में तीनों कृषि कानूनों को रद्द किये जाने, एमएसपी को कानूनी दर्जा व अन्य कई महत्वपूर्ण मांगों को लेकर जनपद शामली के कस्बा झिंझाना के गाड़ी वाला चौक पर किसानों ने चक्का जाम कर किया विरोध प्रदर्शन* दरअसल आपको बता दें कि तीनों कृषि कानूनों को वापस किए जाने की मांग को लेकर लगभग चार माह से दिल्ली में किसान अपना डेरा डाले हुए हैं भाकियू नेता कपिल खाटियान ने कहा दिल्ली बोर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन में अबतक 250 से अधिक किसान अपनी जान गवा चुके हैं परन्तु सरकार अभी भी किसानों की बात सुनने को राजी नहीं है, वहीं सयुंक्त किसान मोर्चा के द्वारा 26मार्च को भारत बंद का ऐलान किया था जिसके चलते आज भाकियू नेता कपिल खाटियान के नेतृत्व में सैकड़ों किसानों ने MSPको कानूनी जामा पहनाने व MSPसे कम मुल्य पर फसलों की खरीद करने वालों के खिलाफ कानूनी सजा का प्रावधान किये जाने व बकाया गन्ना भुगतान बढ़ते बिजली बिलों व किसानों पर लगाऐ फर्जी मुकदमो , बढ़ती मंहगाई सहित अन्य कई महत्वपूर्ण मांगो को लेकर चक्का जाम करते हुए विरोध प्रदर्शन किया, वहीं चौसाना में यमुना खादर खाप के चौधरी अनिल कुमार के नेतृत्व में भी किसानों ने अपनी मांगों को लेकर ऊन तिराहे पर जाम लगा कर विरोध प्रदर्शन किया गया ओर तीनो कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग की गई ,जिसके बाद झिंझाना में किसानों ने अपनी मांगों को लेकर प्रधानमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन अपर जिलाधिकारी अरविंद कुमार को देकर धरना समाप्त कर दिया वहीं चौसाना के किसानों द्वारा प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन एस डी पंवार तहसीलदार ऊन को देकर धरना समाप्त कर दिया चक्का जाम के दौरान पुलिस प्रशासन के द्वारा अन्य मार्गों से यात्रियों व वाहनों को निकाला इस दौरान उपजिलाधिकारी ऊन मनीअरोडा व एसपी शामली ओपी सिंह , व सीओ शामली प्रदीप कुमार व झिंझाना थाना प्रभारी श्यामवीर सिंह, ऊन, चौसाना, पुलिस के साथ धरना स्थल पर मौजूद रहे *विकास कुमार हलचल इंडिया न्यूज़ नेटवर्क जनपद शामली उत्तर प्रदेश,9927923230*संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर भारतीय किसान यूनियन के नेतृत्व में तीनों कृषि कानूनों को रद्द किये जाने, एमएसपी को कानूनी दर्जा व अन्य कई महत्वपूर्ण मांगों को लेकर जनपद शामली के कस्बा झिंझाना के गाड़ी वाला चौक पर किसानों ने चक्का जाम कर किया विरोध प्रदर्शन
दरअसल आपको बता दें कि तीनों कृषि कानूनों को वापस किए जाने की मांग को लेकर लगभग चार माह से दिल्ली में किसान अपना डेरा डाले हुए हैं भाकियू नेता कपिल खाटियान ने कहा दिल्ली बोर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन में अबतक 250 से अधिक किसान अपनी जान गवा चुके हैं परन्तु सरकार अभी भी किसानों की बात सुनने को राजी नहीं है, वहीं सयुंक्त किसान मोर्चा के द्वारा 26मार्च को भारत बंद का ऐलान किया था जिसके चलते आज भाकियू नेता कपिल खाटियान के नेतृत्व में सैकड़ों किसानों ने MSPको कानूनी जामा पहनाने व MSPसे कम मुल्य पर फसलों की खरीद करने वालों के खिलाफ कानूनी सजा का प्रावधान किये जाने व बकाया गन्ना भुगतान बढ़ते बिजली बिलों व किसानों पर लगाऐ फर्जी मुकदमो , बढ़ती मंहगाई सहित अन्य कई महत्वपूर्ण मांगो को लेकर चक्का जाम करते हुए विरोध प्रदर्शन
किया, वहीं चौसाना में यमुना खादर खाप के चौधरी अनिल कुमार के नेतृत्व में भी किसानों ने अपनी मांगों को लेकर ऊन तिराहे पर जाम लगा कर विरोध प्रदर्शन किया गया ओर तीनो कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग की
गई ,जिसके बाद झिंझाना में किसानों ने अपनी मांगों को लेकर प्रधानमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन अपर जिलाधिकारी अरविंद कुमार को देकर धरना समाप्त कर दिया वहीं चौसाना के किसानों द्वारा प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन एस डी पंवार तहसीलदार ऊन को देकर धरना समाप्त कर दिया
चक्का जाम के दौरान पुलिस प्रशासन के द्वारा अन्य मार्गों से यात्रियों व वाहनों को निकाला
इस दौरान उपजिलाधिकारी ऊन मनीअरोडा व एसपी शामली ओपी सिंह , व सीओ शामली प्रदीप कुमार व झिंझाना थाना प्रभारी श्यामवीर सिंह, ऊन, चौसाना, पुलिस के साथ धरना स्थल पर मौजूद रहे

विकास कुमार हलचल इंडिया न्यूज़ नेटवर्क जनपद शामली उत्तर प्रदेश,9927923230

error: Content is protected !!